SOFTWARE

Firewall क्या है और यह कैसे काम करती है

नमस्कार दोस्तों मैं अंकित कुमार आपका हमारी ब्लॉगिंग वेबसाइट पर स्वागत है। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपके सामने न्यू टॉपिक पर बात करेंगे। आर्टिकल के माध्यम से बात करेंगे कि फायर वाल क्या है और यह कैसे काम करती है।

दोस्तों आज के टाइम में हर किसी व्यक्ति के पास कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्शन जरूर है । और हम जब अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में इंटरनेट चलाते हैं तो उसमें वायरस आने के बहुत ज्यादा चांस बढ़ जाते हैं। इन्हीं वायरस से बचने के लिए हम अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में एंटीवायरस का इस्तेमाल करते हैं।

अधिकतर लोग एंटीवायरस के बारे में तो जानते ही हैं कि हम लोग अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में एंटीवायरस क्यों यूज़ करते हैं। क्या आपने कभी फायर वाल की बारे में सुना है। अगर आपने फायर वालों का नाम सुना भी है तो क्या आप यह जानते हैं कि हम लोग फायर वाल का यूज क्यों करते हैं और उससे में क्या बेनिफिट होता है।

दोस्तों अगर आप भी फायर वाल के बारे में नहीं जानते हैं तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताएंगे कि फायरवॉल क्या होता है और इस काम अपने कंप्यूटर और लैपटॉप में इस्तेमाल क्यों करते हैं।

आइए अब इस आर्टिकल के माध्यम से जानते हैं कि फायर वाल क्या है और इसका कैसे इस्तेमाल करते हैं और उसके क्या बेनिफिट है।

फायरवाल क्या है

फायरवाल हमारे कंप्यूटर का एक सिक्योरिटी गार्ड है जो कि हमारे कंप्यूटर में आने वाले वायरस से बचाता है। क्योंकि जब हम अपने लैपटॉप या कंप्यूटर में इंटरनेट से कुछ सर्च करते हैं तो हमारे सामने बेमतलब की कुछ फाइलें ऑटोमेटिक डाउनलोड होने लगती हैं। यह फाइलें बहुत ही हमारे कंप्यूटर के लिए हानिकारक होती है क्योंकि अधिकतर इन फाइलों में वायरस होता है।

अगर हम अपने कंप्यूटर लैपटॉप में फायरवाल का उपयोग करते हैं तो हम बे फालतू की डाउनलोड होने वाली चीजों से बस सकते हैं। क्योंकि जब हमारे कंप्यूटर लैपटॉप में फायरवाल ऑन होता है तो मेरे कंप्यूटर या लैपटॉप में केवल वही चीजें डाउनलोड होती हैं जिनको हम एलाऊ करते हैं।

फायरवाल काम कैसे करता है

फायरवाल एक तरह का सुरक्षा कवच है। जो कि हमारे कंप्यूटर लैपटॉप में इंटरनेट से आने वाली बे फालतू के सॉफ्टवेयर और दूसरी फाइलों को हमारे कंप्यूटर में इंस्टॉल होने से रोकता है।

क्या होता है कि जब हम अपने कंप्यूटर को दूसरी और कंप्यूटर से कनेक्ट करते हैं। या फिर हम अपने कंप्यूटर को लाइन के जरिए कोई फाइल कोई सॉफ्टवेयर या फिर इंटरनेट यूज करते हैं तो वहां पर हमारे कंप्यूटर लैपटॉप में उस लाइन के द्वारा दूसरे सॉफ्टवेयर या बेमतलब के फाइल यह सॉफ्टवेयर हमारे कंप्यूटर में आ जाते हैं।

अगर हम अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में फायरवाल का इस्तेमाल करते हैं तो यह हमें दूसरे कंप्यूटर या लैपटॉप से आने वाले बे फालतू फाइल और सॉफ्टवेयर को आने से रोकता है। इस तरह से हमारे कंप्यूटर या लैपटॉप में कोई भी एनोन फाइल या वायरस नहीं आ सकता है।

फायरवाल के प्रकार

फायरवाल दो प्रकार के होते हैं।

1 – Software Firewall

सॉफ्टवेयर फायरवॉल हमारे कंप्यूटर या लैपटॉप के अंदर गलती से आए हुए वायरस को निकालने में हमारी मदद करता है। आज के टाइम में बहुत सारे एंटीवायरस कंपनियां फायर वालों की सुरक्षा देने लगी हैं। इनके फायर वालों के अलग-अलग पैकेज आप अपने हिसाब से ले सकते हैं।

सॉफ्टवेयर फायरवॉल का इस्तेमाल करना आपके लिए थोड़ा महंगा साबित हो सकता है। पर अगर आप इंटरनेट का यूज कर रहे हैं तो आपके लिए सॉफ्टवेयर फायर वालों का इस्तेमाल करना बहुत ही जरूरी है।

2 – Hardware Firewall

हार्डवेयर फायरवॉल हमें ज्यादा कर इंटरनेट कनेक्शन लगवाने में इस्तेमाल किया जाता है। जब हम इंटरनेट यूज करने के लिए किसी राउटर का इस्तेमाल करते हैं तो हार्डवेयर फायरवॉल वहां पर यूज किया जाता है कि हमारा राउटर सुरक्षित रहें।

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद अब आप पूरा जान ही गए होंगे कि फायर वालों क्या होता है। और इसे हम अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में क्यों इस्तेमाल करते हैं। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप हमें कमेंट करके अवश्य बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close